Chirayu Yojana Chhattisgarh 2023 | छत्तीसगढ़ चिरायु योजना | Online Apply, Benefits, Last Deat @dprcg.gov.in

Chirayu Yojana Chhattisgarh:- छत्तीसगढ़ सरकार बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए एक योजना चला रही है, जिसका नाम छत्तीसगढ़ चिरायु योजना है। इस योजना के माध्यम से, यदि बच्चों में कोई बीमारी होती है, तो सरकार उसे पहचानती है और फिर बच्चों को उस बीमारी के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाती है और जितना भी खर्च बीमारी के इलाज के लिए उसकी ओर से होता है, वह पैसा प्रदान किया जाता है।

Chirayu Yojana Chhattisgarh
Chirayu Yojana Chhattisgarh
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अब तक, छत्तीसगढ़ चिरायु योजना के तहत लगभग 1 लाख 76,000 बच्चों का इलाज किया गया है। इसमें विभिन्न बीमारियों वाले बच्चे शामिल हैं। यदि आपका बच्चा भी छत्तीसगढ़ राज्य में रहता है और उसकी आयु 0 से 18 वर्ष के बीच है, तो आपको इस योजना के बारे में जानकारी होनी चाहिए। यहां हम आपको छत्तीसगढ़ चिरायु योजना क्या है और छत्तीसगढ़ चिरायु योजना में आवेदन कैसे करें की जानकारी दे रहे हैं।

Chirayu Yojana क्या है

Chirayu Yojana Chhattisgarh यह पहली बार वर्ष 2014 में छत्तीसगढ़ के तत्काली मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के सत्य साई संजीवनी अस्पताल में 6 अगस्त को शुरू की गई थी और इसके बाद उसी वर्ष 2014 में 28 अगस्त को यह योजना छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के लिए लागू की गई थी।

आपको यहां जानकर खुशी होगी कि छत्तीसगढ़ विवा योजना केवल 0 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए शुरू की गई है। यदि 0 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों में कोई बीमारी हो या उनमें से किसी बच्चे को कोई बीमारी मिल जाए, तो उसका पूरी तरह से नि: शुल्क इलाज किया जाएगा और बच्चों को स्वस्थ बनाया जाएगा। इस योजना के तहत बच्चों की जांच की जाएगी। इसके लिए चिरायु टीम विभिन्न स्थानों पर जांच करेगी।

Chirayu Yojana Chhattisgarh Highlights

Yojana Name Chirayu Yojana Chhattisgarh
राज्य छत्तीसगढ़
किसने शुरू की छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी ने
लाभार्थी छत्तीसगढ़ राज्य के बालक
उद्देश्य बच्चों  चिकित्सा स्वास्थ्य परीक्षण और देखभाल करवाना
आधिकारिक वेबसाइट https://dprcg.gov.in/
हेल्पलाइन नंबर जानकारी नहीं

Chirayu Yojana योजना का उद्देश्य 

हर साल छत्तीसगढ़ राज्य में ऐसे कई बच्चे पैदा होते हैं जिनमें पैदा होने के बाद ही कोई बीमारी होती है। वही समय-समय पर बच्चों के जन्म के बाद, सही आहार न मिलने के कारण, उन्हें अपने नियंत्रण में कई बीमारियाँ भी हो जाती हैं और अगर बच्चों को सही समय पर इलाज नहीं मिलता है, तो उनकी बीमारी बहुत गंभीर हो जाती है, जिसके कारण उन्हें शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है और कभी-कभी बच्चे मर जाते हैं।

ऐसे में, बच्चों के स्वास्थ्य को सुधारने और उनकी मृत्यु को कम करने के उद्देश्य से सरकार ने छत्तीसगढ़ राज्य में चिरायु योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत, छिरायु टीम अंगनवाड़ी, स्कूल और अन्य स्थानों पर जाएगी और टेस्टिंग सेंटर स्थापित करके बच्चों की जांच करने का काम करेगी।

Chirayu Yojana Chhattisgarh
Chirayu Yojana Chhattisgarh

Chirayu Yojana Chhattisgarh के लाभ 

Chirayu Yojana Chhattisgarh राज्य छत्तीसगढ़ में पूरी तरह से लागू हो चुकी है। इस योजना के तहत एक चिरायु टीम बनाई जाएगी, जो बच्चों की जांच के लिए विभिन्न स्थानों पर जाएगी। जांच का काम एक चिकित्सा विशेषज्ञ की निगरानी में किया जाएगा, ताकि सही जांच की जा सके। इस योजना के तहत बालगृह, प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक, सरकारी स्कूल और आवासीय सरकारी स्कूलों में बच्चों की जांच के लिए केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इस योजना के तहत बच्चों की जांच के लिए किसी बच्चे से पैसे नहीं लिए जाएंगे।

इस योजना के तहत 35 विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ ठीक की जाएंगी, जिसमें कम दृष्टि, कम सुनाई, विटामिन की कमी, खून की कमी, हृदय रोग सहित कई बीमारियाँ शामिल हैं। जांच के दौरान, अगर किसी बच्चे में कोई बीमारी दिखाई देती है, तो उसे उसके इलाज के लिए आगे की प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा। अगर किसी बच्चे में कोई गंभीर बीमारी पाई जाती है, तो उसे तुरंत पास के अस्पताल में भर्ती करने के लिए भेजा जाएगा। यह योजना सरकार छत्तीसगढ़ राज्य के हर जिले के हर ब्लॉक में चलाई जा रही है। इस योजना के तहत बच्चों के इलाज का भी पूरी तरह से नि: शुल्क होगा।

Chirayu Yojana Chhattisgarh की पात्रता

Chirayu Yojana Chhattisgarh केवल वह बच्चे ही पात्र होंगे जो छत्तीसगढ़ के निवासी हों। ऐसे बच्चे ही इस योजना के पात्र होंगे, जिनकी आयु 0 से 18 वर्ष के बीच हो।

Chirayu Yojana Chhattisgarh के लिए दस्तावेज 

बच्चों को इस योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए किसी प्रकार के दस्तावेज सबमिट करने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि इस योजना में आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है। इस योजना के तहत, चिरायु टीम खुद ही विभिन्न स्थानों पर जाकर बच्चों की जांच करेगी। हालांकि, यदि जांच के दौरान किसी बच्चे को गंभीर बीमारी मिलती है, तो उसे अस्पताल में भर्ती के लिए उसका आधार कार्ड प्रस्तुत करने की आवश्यकता होगी।

Chirayu Yojana Chhattisgarh

Chirayu Yojana Chhattisgarh आवेदन

छत्तीसगढ़ चिरायु योजना में आवेदन करने के लिए न तो कोई ऑफलाइन प्रक्रिया है और न ही कोई ऑनलाइन प्रक्रिया, क्योंकि इस योजना में आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है। जहां चिरायु टीम द्वारा इस योजना के तहत केंद्र स्थापित किए जाएंगे, वहां बच्चों की जांच होगी और अगर किसी बच्चे को वहां बीमारी होती है, तो वह स्वच्छता योजना के पात्र हो जाएगा।

Chirayu Yojana Chhattisgarh हेल्पलाइन नंबर

आपको यह जानकर खेद होगा कि हालांकि यह योजना काफी समय से चल रही है, लेकिन अब तक सरकार ने इस योजना के लिए किसी आधिकारिक हेल्पलाइन नंबर या टोल फ्री नंबर जारी नहीं किया है। इस कारण हम आपको टोल फ्री नंबर प्रदान नहीं कर सकते हैं। हालांकि, आप चाहें तो आपके आस-पास रहने वाले आंगनवाड़ी आशा कार्यकर्ता से इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं या वेबसाइटों और सरकारी स्रोतों से भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Chirayu Yojana Chhattisgarh FAQs:-

Q:- छत्तीसगढ़ चिरायु योजना क्या है? 

Ans- छत्तीसगढ़ चिरायु योजना एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य बच्चों के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखना और उनके बीमारियों का पता लगाना है। इसके तहत बच्चों को नि:शुल्क उपचार प्रदान किया जाता है।

Q:- कौन-कौन से बच्चे इस योजना के लिए पात्र होते हैं? 

Ans- योजना केवल छत्तीसगढ़ राज्य में पैदा हुए बच्चों के लिए है, जिनकी आयु 0 से 18 वर्ष के बीच होती है।

Q:- योजना के तहत कौन-कौन सी बीमारियाँ उपचारित की जाती हैं? 

Ans- छत्तीसगढ़ चिरायु योजना के अंतर्गत 35 प्रकार की बीमारियाँ उपचारित की जाती हैं, जैसे कि कम दृष्टि, कम सुनाई, विटामिन की कमी, एनीमिया, हृदय रोग आदि।

Q:- योजना के लिए आवेदन कैसे करें? 

Ans- इस योजना के लिए आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है। स्थानीय स्वच्छता टीम द्वारा बच्चों की जांच की जाती है और उनकी बीमारियाँ पता लगाई जाती है।

Q:- आवश्यक दस्तावेजों की क्या आवश्यकता है? 

Ans- योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए कोई विशेष दस्तावेज नहीं चाहिए। जांच के दौरान यदि गंभीर बीमारी पता चलती है तो अस्पताल में भर्ती के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता होती है।

Q:- योजना से कौन-कौन से लाभ मिलते हैं? 

Ans- योजना के तहत बच्चों की स्क्रीनिंग की जाती है और उन्हें बिना किसी खर्च के उपचार प्रदान किया जाता है। यदि गंभीर बीमारी पता चलती है तो उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाता है।

Q:- योजना के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है? 

Ans- अब तक योजना के लिए कोई आधिकारिक हेल्पलाइन नंबर जारी नहीं किया गया है। आप आपके निकटवर्ती अंगनवाड़ी आशा कार्यकर्ता से या स्थानीय स्रोतों से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

अन्य पढ़ें –

मेरे youtube channel पर भी visit करे

Leave a Comment