हिमाचल प्रदेश संजीवनी योजना 2024 | HP Sanjeevani Yojana | आवेदन पत्र Benefits, Latest Update @ hpahdbt.hp.gov.in

HP Sanjeevani Yojana:- हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में बीमार जानवरों के उपचार के लिए संजीवनी योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से बीमार जानवरों को स्वास्थ्य सुविधाएँ प्रदान की जाएगी, जिसके लिए अब जानवरों का घर पर उपचार किया जा सकेगा। संजीवनी योजना के लाभ कैसे प्राप्त करें और इसके लिए कैसे आवेदन करें, इसके बारे में जानते हैं।

HP Sanjeevani Yojana
HP Sanjeevani Yojana
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

HP Sanjeevani Yojana 2023

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने संजीवनी योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के पशुपालकों और किसानों के बीमार जानवरों का घर पर उपचार किया जा सकेगा। इसके लिए राज्य में बीमार जानवरों के लिए एक एम्बुलेंस सेवा चलाई जाएगी। इस सुविधा के उपलब्ध होने से अब पूरे राज्य में जानवरों का उपचार घर पर किया जा सकेगा। 

डॉक्टर्स और कर्मचारियों के साथ-साथ, इन एम्बुलेंस में आवश्यक दवाएँ भी उपलब्ध होंगी, जो समय पर बीमार जानवरों का उपचार करेंगी। इस सुविधा के साथ, जानवरों के मालिकों को अगर उनका जानवर बीमार हो जाता है, तो उन्हें उन्हें पशु चिकित्सालय ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इस योजना का लाभ पशु मालिक फ़ोन कॉल करके प्राप्त कर सकते हैं।

HP Sanjeevani Yojana के बारे में

Yojana Name HP Sanjeevani Yojana
शुरु की गई थी हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा
राज्य हिमाचल प्रदेश
लाभार्थी राज्य के किसानों और पशुपालकों
उद्देश्य बीमार होने पर जानवरों को एम्बुलेंस सुविधा प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट hpahdbt.hp.gov.in

HP Sanjeevani Yojana का उद्देश्य

राज्य के बीमार जानवरों का सही समय पर उपचार करने के लिए, उन्हें उनके घर उपचार सुविधाएँ प्रदान करने के लिए एक एम्बुलेंस भेजनी होगी।

Sanjeevani Yojana HP के लिए पात्रता

राज्य के पशुपालकों और किसानों के बीमार जानवर गाय, भैंस, भेड़ और बकरी आदि पात्र होंगे।

हिमाचल प्रदेश संजीवनी योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

पशुपालन और किसान की आधार कार्ड स्थायी पता मोबाइल नंबर

हिमाचल प्रदेश संजीवनी योजना के लाभ

हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में बीमार जानवरों के उपचार के लिए HP Sanjeevani Yojana की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से बीमार जानवरों का घर पर उपचार किया जाएगा। इन एम्बुलेंस में स्वास्थ्य अधिकारी मौजूद होंगे। इसके साथ ही, एम्बुलेंस में आवश्यक दवाएँ और अन्य वस्त्र भी उपलब्ध होंगे। संजीवनी योजना से बीमार जानवरों को समय पर दवाएँ और उपचार की सुविधा मिलेगी। जानवर जो अधिक बीमार होता है, उसे इन एम्बुलेंसों में रखकर पशु स्वास्थ्य केंद्र ले जाया जाएगा। 

Sanjeevani Yojana HP के तहत, 12 जिलों में स्थित 44 ब्लॉकों में किसानों और पशुपालकों को एम्बुलेंस सेवा का लाभ मिलेगा। HP Sanjeevani Yojana के तहत, पशुधन से संबंधित विभिन्न मामलों के लिए एक एकीकृत कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा। यह योजना पूरे राज्य में चलाई जाएगी। इस योजना में होने वाले सभी खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाए जाएंगे।

HP Sanjeevani Yojana की मुख्य विशेषताएं

  • बीमार जानवरों का ध्यान रखना
  • किसानों को उनके द्वार पर सुविधाजनक और उच्च गुणवत्ता वाली पशुपालन सेवाएँ प्रदान करना
  • राज्य में बीमार जानवरों के लिए एम्बुलेंस सुविधा प्रदान करना
  • Sanjeevani Yojana के माध्यम से, अब बीमार जानवरों का समय पर उपचार घर पर किया जा सकेगा।

HP संजीवनी योजना के लिए पंजीकरण कैसे करें

राज्य सरकार द्वारा पशु माता-पिता को बीमार जानवरों के लिए हेल्पलाइन नंबर प्रदान किए जाएंगे। इन नंबरों को कॉल करके, एम्बुलेंस लाभार्थी के घर पहुँचेगी। घर पहुँचने के बाद, डॉक्टर्स उस बीमार जानवर की जांच करेंगे, उसकी कितनी गंभीरता है। अगर उसे दवा से उपचार किया जा सकता है, तो उसे वहीं पर डॉक्टर द्वारा उपचार दिया जाएगा। अगर जानवर की स्थिति गंभीर है, तो उसे एम्बुलेंस के माध्यम से नजदीकी पशु चिकित्सालय ले जाया जाएगा। वहां उसका उपचार किया जाएगा। इस सुविधा के साथ, राज्य के बीमार जानवर अब अपने घरों में उपचार प्राप्त कर सकेंगे।

HP Sanjeevani Yojana
HP Sanjeevani Yojana

HP Sanjeevani Yojana के लिए एकीकृत कॉल सेंटर की स्थापना

संजीवनी योजना के अंतर्गत, पशुधन से संबंधित विभिन्न मामलों के लिए संचालन मानक स्तर पर एक एकीकृत कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा। यह केंद्र पशुधन मालिकों को विभिन्न पहलुओं में व्यक्तिगत सहायता प्रदान करेगा, जैसे कि टेली-मेडिकल-परामर्श, सरकारी योजनाएँ, पशु स्वास्थ्य और रोग नियंत्रण कार्यक्रम, शिकायत निवारण, प्रश्न-समाधान आदि।

राज्य के 44 ब्लॉकों में किसानों के लिए सेवाएँ

राज्य के 12 जिलों में स्थित 44 ब्लॉकों में किसानों के लिए सेवाएँ प्रदान की जाएंगी। जिसके लिए राज्य में सेंट्रलाइज्ड कॉल सेंटर को इन 44 मोबाइल पशु चिकित्सा एम्बुलेंसों के साथ एकीकृत किया जाएगा। इससे किसानों को पशु चिकित्सालय जाने और बीमार जानवरों के लिए गुणवत्ता वाली दवाएँ प्राप्त करने का अतिरिक्त समय और खर्च बचेगा।

HP Sanjeevani Yojana Important Links

Official Website

Click Here

Join our Telegram group

Click Here

Join our Whatsapp group

Click Here

Home Page

Click Here

HP Sanjeevani Yojana FAQs

Q:- संजीवनी योजना के लिए पंजीकरण कैसे करें?

Ans:- आपको योजना के लिए पंजीकरण के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रदान किए गए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करना होगा और आवश्यक जानकारी प्रदान करनी होगी।

Q:- जानवरों का उपचार घर पर कैसे होगा?

Ans:- उपचार के लिए आपको हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करना होगा। एम्बुलेंस वाले डॉक्टर आपके घर पहुँचेंगे और जानवर की स्थिति की जांच करेंगे।

Q:- संजीवनी योजना के तहत कितनी बार जानवरों का उपचार किया जा सकता है?

Ans:- योजना के तहत जानवरों का उपचार उनकी स्थिति के आधार पर किया जाएगा। जरूरत पड़ने पर वे अधिक बार भी उपचार किए जा सकते हैं।

Q:- क्या संजीवनी योजना का वित्तीय खर्च बीमार जानवर के मालिकों को करना होगा?

Ans:- नहीं, योजना के तहत सभी खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाए जाएंगे।

Q:- किसानों के लिए कितनी ब्लॉकों में सेवाएँ प्रदान की जाएंगी?

Ans:- योजना के अंतर्गत सेवाएँ 12 जिलों में स्थित 44 ब्लॉकों में प्रदान की जाएंगी, जिससे किसानों को अधिकतम सुविधा मिल सके।

Q:- क्या संजीवनी योजना केवल किसानों के लिए है?

Ans:- जी हां, संजीवनी योजना का उद्देश्य हिमाचल प्रदेश के किसानों और पशुपालकों के बीमार जानवरों के उपचार की सुविधा प्रदान करना है।

Q:- योजना के तहत कौन-कौन से पशु शामिल हो सकते हैं?

Ans:- संजीवनी योजना के तहत गाय, भैंस, भेड़ और बकरी आदि जैसे पशुधन के जानवर शामिल हो सकते हैं।

Q:- क्या संजीवनी योजना का लाभ सभी राज्यों में मिलेगा?

Ans:- नहीं, संजीवनी योजना केवल हिमाचल प्रदेश में लागू होगी।

Q:- संजीवनी योजना के तहत एम्बुलेंस कैसे पहुँचेगी?

Ans:- योजना के तहत, पशु माता-पिता को हेल्पलाइन नंबर प्रदान किए जाएंगे, जिनका उपयोग करके एम्बुलेंस को घर तक पहुँचाया जाएगा।

अन्य पढ़ें –

मेरे youtube channel पर भी visit करे

Leave a Comment